Sun. Sep 25th, 2022

1992 में, मैरी इवांस यंग ने 5 मई को होने वाले अंतर्राष्ट्रीय नो डाइट डे की शुरुआत की।
1993 में, कई देशों में नारीवादियों ने अंतर्राष्ट्रीय आहार निषेध दिवस का विस्तार किया।
1998 में, इंटरनेशनल साइज एक्सेप्टेंस एसोसिएशन (ISAA) और नेशनल ऑर्गनाइजेशन फॉर विमेन (अब) दोनों ने समान दिनों को प्रायोजित करना और उनका पालन करना शुरू किया।

आत्मविश्वास को बढ़ावा देने के उद्धेश्य से हर साल 6 मई को ‘अंतर्राष्ट्रीय नो डाइट डे’ मनाया जाता है। इस दिन लोग मोटापा (Obesity), कमजोरी, बढ़ते वजन (Lose Weight Fast) , बैली फैट (Belly Fat) जैसी समस्याओं को भूलकर खुद के प्रति प्यार जाहिर करते हैं। यह खास दिन बॉडी शेमिंग को दिमाग से निकालकर बॉडी एक्सेपटेंसी (body acceptance) के प्रति लोगों की जागरूकता बढ़ाने के उद्देश्य से यह दिन मनाया जाता है, जिसमें सभी आकार और साइज के लोग शामिल हैं।

  • AAHAR 2022: Asia’s Biggest International Food And Hospitality Fair
  • Odisha And The United Nations World Food Programme To Bolster Food Security Of Small Farmers
  • NITI Aayog Tie-Up With UN WFP To Diversify Food Basket
  • Piyush Goyal Launched India’s 1st Digital Food Museum In Tamil Nadu
  • Daniel Brühl Named As Goodwill Ambassador Of UN-World Food Programme
  • India Ranks 71st On 2021 Global Food Security Index
  • ICRISAT Awarded “AFRICA FOOD PRIZE 2021”

By admin