नोबेल पुरस्कार 2018: रसायन विज्ञान श्रेणी के तीन वैज्ञानिकों के नाम की घोषणा

नोबेल पुरस्कार चयन समिति ने 03 अक्टूबर 2018 को तीन वैज्ञानिकों को रसायन विज्ञान श्रेणी में पुरस्कृत किये जाने की घोषणा की. इन वैज्ञानिकों में

  1. अमेरिकी वैज्ञानिक फ्रांसेस अर्नोल्ड (Frances H Arnold),
  2. जॉर्ज पी स्मिथ (George P Smith)
  3. ब्रिटिश अनुसंधानकर्ता ग्रेगोरी विंटर (Gregory P Winter)

रसायन विज्ञान श्रेणी के नोबेल पुरस्कार विजेताओं में एक महिला और दो पुरुष वैज्ञानिक हैं. जिन तीन हस्तियों को रासायन के क्षेत्र में नोबेल प्राइज के लिए चुना गया है उन्होंने एंजाइम्स और ऐंटीबॉडीज को विकसित करने के लिए क्रमिक विकास की शक्ति का इस्तेमाल किया है जिससे नए फार्मास्युटिकल और बायोफ्युल का निर्माण हुआ है.

रसायन विज्ञान श्रेणी में नोबेल पुरस्कार 2018

• अर्नोल्ड रसायन विज्ञान के क्षेत्र में नोबेल (Nobel Prize 2018) जीतने वाली पांचवीं महिला (1911 Marie Skłodowska Curie
1935 Irène Joliot-Curie,1964 Dorothy Crowfoot Hodgkin,2009 Ada E. Yonath,2018 Frances Arnold)
हैं.

• उन्हें पुरस्कार राशि 90 लाख स्वीडिश क्रोनोर (करीब 10.1 लाख डॉलर या 870,000 यूरो) की आधी रकम दी जाएगी. शेष आधी रकम स्मिथ और विंटर के बीच बंटेगी.

• तीनों वैज्ञानिकों ने विभिन्न क्षेत्रों में प्रोटीन के इस्तेमाल के लिए क्रम विकास के उसी सिद्धांत का इस्तेमाल किया जिसके जरिए आनुवंशिक बदलाव और चयन किया जाता है.

 

फ्रांसेस एच. अर्नोल्ड का जन्म वर्ष 1956 में अमेरिका स्थित पिट्सबर्ग में हुआ. वर्तमान में कैलिफ़ोर्निया इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी में केमिकल इंजीनियरिंग, बायोइंजीनियरिंग एवं बायोकेमिस्ट्री के प्रोफेसर हैं.

 

जॉर्ज पी स्मिथ का जन्म 1941 को नॉरवॉक, अमेरिका में हुआ. वर्तमान में यूनिवर्सिटी ऑफ़ मिसूरी, कोलंबिया, अमेरिका में बायोलॉजिकल साइंसेज़ विभाग में प्रोफेसर हैं.

 

ग्रेगोरी पी विंटर का जन्म 1951 लिसिस्टर, इंग्लैंड में हुआ.  वे कैंब्रिज यूनिवर्सिटी, इंग्लैंड में एमआरसी लेबोरेटरी के अनुसंधान प्रमुख हैं.

 

नोबेल पुरस्कार के बारे में

• प्रत्येक वर्ष विज्ञान, साहित्य के क्षेत्र में महान अविष्कार करने वाले वैज्ञानिकों को नोबेल पुरस्कार से सम्मानित किया जाता है.

• यह पुरस्कार रॉयल स्वीडिश एकेडमी ऑफ साइंस की ओर से प्रदान किया जाता है.

• इसमें पुरस्कार स्वरुप 7,70,000 पाउंड की राशि दी जाती है.

• इस वर्ष साहित्य का नोबेल पुरस्कार नहीं दिया जा रहा है क्योंकि नोबेल पुरस्कार का चुनाव करने वाली संस्था स्वीडिश एकेडमी की ज्यूरी की एक सदस्य के पति यौन शोषण के आरोपों में घिरे हैं जिसके चलते स्वीडिश एकेडमी विवादों में घिरी हुई है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *