नर्मदा नदी , माण्डवी नदी, ताप्ती नदी , साबरमती नदी, माही नदी

नर्मदा नदी
नर्मदा को रेवा नाम से भी जाना जाता है!मध्य भारत की एक नदी है और उपमहाद्वीप की पांचवी सबसे बड़ी नदी है!यह कृष्णा और गोदावरी के बाद भारत में बहने वाली तीसरी सबसे बड़ी नदी है!महाकाल पर्वत के अमरकण्टक शिखर से इसकी उत्पत्ति हुई!इस नदी के किनारे जबलपुर शहर बसा है!जबलपुर के निकट भेड़ाघाट का जलप्रपात काफी प्रसिद्ध है!मध्य प्रदेश राज्य के विशेष योगदान से इसे”मध्य प्रदेश की जीवन रेखा” कहा जाता है!यह उत्तर दक्षिण भारत के बीच पारंपरिक रेखा का निर्धारण करती है!यह अपने उद्गम से 1310 किलोमीटर चल कर अरब सागर मे मिल जाती है!

माण्डवी नदी
भारत के कर्नाटक राज्य कर्नाटक और गोवा से होकर बहने वाली एक नदी है!इस नदी को गोवा की जीवन रेखा कहा गया है!माण्डवी नदी की कुल लम्बाई 177किलोमीटर है!इस नदी का उद्गम पश्चिमी घाट के तीस स्रोतों के समुह से होता है जो कर्नाटक के बेलगाम जिले के भीमगढ़ में स्थित है!

ताप्ती नदी
पश्चिमी भारत की प्रसिद्ध नदी है!यह मध्य प्रदेश राज्य के बेतुल जिले के मुलताई से निकलकर सतपुड़ा से बहती हुई महाराष्ट्र के खानदेश के पठार एवं सुरत के मैदान के पार करती हुईअरब सागर में जा गिरती है यह नदी पूर्व से पश्चिम की ओर 740 किलोमीटर दुरी तक बहती है!सुरत बन्दरगाह इसी नदी के किनारे स्थित है!इस नदी को सुर्यपुत्री भी कहा जाता है!

साबरमती नदी
साबरमती भारत की एक प्रमुख नदी है!साबरमती नदी पश्चिम भारत के गुजरात राज्य कि प्रमुख नदी है!जिसके किनारे अहमदाबाद शहर बसा हुआ है!साबरमती नदी का उद्गम अरावली श्रंखला के दक्षिण भाग में स्थित धेबार नदी से होता है!साबरमती की कुल लम्बाई 371 किलेमीटर है!धरोई बाँध योजना साबरमती नदी के ऊपर बना है!

माही नदी
माही पश्चिमी भारत की एक प्रमुख नदी है माही का उद्गम मध्यप्रदेश के धार जिले के समीप धार जिला के समीप मिन्डा ग्राम के विध्यांचल पर्वत श्रेणी से हुआ!इसकी दक्षिणी पूर्व शाखा बांसवाड़ा के विपरित दिशा में आकर गिरती है इस पर माही बजाज सागर एवं कडाना बाँध बनाए हुए है इसकी कुल लम्बाई 472किलोमीटर है!यह मध्य प्रदेश के धार,झाबुआ और रतलाम जिलों तथा राजस्थान,गुजरात होती हुई अरब सागर में गिर जाती है!

One Comment on “नर्मदा नदी , माण्डवी नदी, ताप्ती नदी , साबरमती नदी, माही नदी”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *