गोदावरी नदी, इन्द्रावती नदी, वर्धा नदी, कृष्णा नदी, तुगभद्रा नदी

गोदावरी नदी
गोदावरी दक्षिण भारत की एक प्रमुख नदी है यह नदी दूसरी प्रायद्विपीय नदियों में से इसकी उत्पति पश्चिम घाट की पर्वत श्रेणी के अन्तर्गत त्रिम्बक पर्वत से हुई है!यह महाराष्ट्र में नासिक जिले से निकलती है!इसकी लम्बाई प्रायः1450किलोमीटर है!इस नदी का पाट बहुत बड़ा है!गोदावरी की उपनदियों में प्रमुख हैं प्राणहिता,इन्द्रावती,मंजिरा!यह महाराष्ट्र,तेलंगाना और आंध्र प्रदेश से बहते हुए राजहमुन्द्री शहर के समीप बंगाल की खाड़ी में जाकर मिलती है!

इन्द्रावती नदी
मध्य भारत की एक बड़ी नदी है और गोदावरी नदी की सहायक नदी है!इस नदी का उद्गम स्थान उड़ीसा के कालाहन्डी जिले के रामपुर में है!नदी की कुल लम्बाई 240किलोमीटर है!यह नदी प्रमुख रूप से छतीसगढ़ राज्य के बस्तर दन्तेवाड़ा जिले में प्रवाहीत होती है!दन्तेवाड़ा जिले के भद्राकाली में इन्द्रवती नदी और गोदावरी नदी का संगम होता है!
इन्द्रावती राष्ट्रीय उद्यान नदी के किनारे बसा हुआ है!जगदलपुर के निकट मात्र80किमी.की दूरी पर स्थित चित्रकोट जलप्रपात स्थित है!अपने घोड़े की नाल समान मुख के कारण इस जल प्रपात को भारत का निआग्रा भी कहा जाता है!यह भारत का सबसे बड़ा जल प्रपात है!

वर्धा नदी
मध्यप्रदेश के बैतुल जिला की मुल्ताई तहसील के वर्धन शिखर से इसका उद्गम होता है!गहरे चट्टानी क्षेत्र में इसका प्रवाह तेज होता है यह नदी लगभग 13किमी.तक छिंदवाड़ा जिला की द्क्षिणी सीमा बनाती है!इसके बाद यह नदी महाराष्ट्र राज्य में प्रवेश करती है इस नदी की कुल लम्बाई525किमी.है!अन्त में यह नदी वैनगंगा नदी में मिल जाती है!

कृष्णा नदी
कृष्णा भारत में बहनेवाली एक नदी है !यह पश्चिमी घाट के पर्वत महाबलेश्वर से निकलती है!इसकी लम्बाई1290 किलोमीटर है!यह दक्षिण पूर्व में बहती हुई बंगाल की खाड़ी में जाकर गिरती है!कृष्णा नदी की उपनदियों में तुंगभद्रा,घाटप्रभा,मूसी और भीमा प्रमुख है!नदी किनारे विजयवाड़ा एवं मूसी नदी के किनारे हैदराबाद स्थित है!इसके मुहाने पर बहुत बड़ा डेल्टा है इसका डेल्टा भारत के सबसे उपजाऊ क्षेत्रो में से एक है!

तुगभद्रा नदी
तुगभद्रा नदी दक्षिण भारत में बहने वाली एक पवित्र नदी है यह कर्नाटक एवं आन्ध्रप्रदेश में बहती हुई कृष्णा नदी में मिल जाती है!रामायण में तुगभद्रा को पंपा के नाम से जाना था!तुगभद्रा नदी का जन्म तुंगा एवं भद्रा नदियों के मिलन से हुआ है ये पश्चिमी घाट के पूर्वा ढाल से होकर बहती है!पश्चिमी घाट के गंगामूला नामक स्थान से समुद्र तल से कोई 1198मीटर की ऊचाई से तुंग तथा भद्रा नदियों का जन्म होता है जो शिमोगा के पास जाकर सम्मिलित होता है जहाँ से इसे तुगभद्रा कहते है!आन्ध्र प्रदेश में महबूब नगर जिले में गोडिमल्ला में जाकर ये कृष्णा नदी में मिल जाती है!इसके किनारे कई धार्मिक स्थान है!चौदहवीं सदी में स्थापित दक्कनी विजयनगर साम्राज्य की राजधानी रही हंपी भी इसी के किनारे है!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *