रुपये और पैसे का इतिहास , भारत

1. भारत में पहला सिक्का करीब 2500 साल पहले बना था।

2. भारत का पहला रुपया शेर शाह सूरी द्वारा पेश किया गया था।

3. रुपये का चिन्ह “₹” हिंदी के “र” शब्द से लिया गया है।

4. इसे उदय धर्मलिंगम द्वारा डिजाइन किया गया था, जिसे 2010 में भारत सरकार की मंजूरी मिली थी।

5. सन् 1953 से भारतीय नोट पर हिंदी में लिखने की शुरुआत हुई थी।

6. भारतीय मुद्रा के चिन्ह के साथ पहली सिक्को की सीरीज 8 जुलाई 2011 में लांच हुई थी।

7. भारत की पहली ₹1000 की नोट सन् 2000 में पेश की गई थी।

8. भारत में 1957 में दशमलवकरण (Decimalization) शुरू हुआ और रूपए को 100 पैसो में बांटा गया।

9. भारतीय नोट पर English, Hindi, Assamese, Bengali, Gujarati, Kannada, Kashmiri, Konkani, Malayalam, Marathi, Nepali, Oriya, Panjabi, Sanskrit, Tamil, Telugu and Urdu को मिला कर कुल 17 भाषाओ में लिखा जाता है।

10. भारत में पहला कागजी बैंक नोट 1770 में बैंक ऑफ हिंदुस्तान के द्वारा प्रकाशित किया गया था।

11. भारतीय नोटों की वर्तमान महात्मा गांधी वाली श्रृंखला (series)1996 से शुरू हुई थी।

12. भारत के जिन चार प्रमुख शहरो में सिक्के बनते है।
उनके नाम मुम्बई, कोलकत्ता, हैदराबाद और दिल्ली है।

13.दिल्ली में बने सिक्कों पर डॉट (.) का निशान होता है,
मुम्बई में बने सिक्को पर डायमंड(◆) का, हैदराबाद में बने सिक्को पर स्टार का(★) का और कोलकत्ता में बने सिक्को पर कुछ नहीं होता है।

14. भारत में 1 रूपए की नोट को छोड़कर सभी नोटे भारतीय रिज़र्व बैंक द्वारा छापी जाती है।

15. भारतीय नोटों पर नेत्रहीन लोगो के लिये अगल से निशान बने होते है। यह निशान 1000 रुपये के लिए एक डायमंड, 500 रुपये के लिए चक्र,100 रुपये के लिए त्रिकोण,50 रुपये के लिए वर्ग, 20 रुपये के लिए आयत की शक्ल में बने होते है।

16.भारत में 75, 100,1000 के सिक्के भीे बन चुके है। इन्हें केवल स्मारक प्रयोजनों के लिए बनाया गया था। 75 का सिक्का भारतीय रिजर्व बैंक के 75 साल पुरे होने पर, रवीन्द्रनाथ टैगोर के 100 साल होने पर 100 का सिक्का और बृहदेश्वर मन्दिर के 1000 साल का जश्न मनाने के लिए 1000 का सिक्का बनवाया गया था।

17. संस्कृत में रूप्यकम् का मतलब चांदी का सिक्का होता है और रुपया शब्द यही से लिया गया है।

18. भारत में पहले ताँबे के सिक्के बनते थे उसके बाद एल्युमीनियम के और अब स्टेनलेस स्टील के बनते है।

19. भारत की पहली ₹500 रूपए की नोट को 1987 में प्रकाशित किया गया था।

20. भारत सरकार द्वारा पहली नोटों की श्रृंखला “विक्टोरियन चित्र श्रृंखला ” थी।

21. ₹1000, ₹5,000 और ₹10,000 की नोटें 1954 में फिर से प्रकाशित की गई थी मगर इन्हें 1978 में demonetized कर दिया गया थाl

22. भारत में 50 पैसे के सिक्के अभी अभी बंद हुए है इन्हें छोटे सिक्के भी कहा जाता था।

23. महात्मा गांधी सीरीज के कुछ नोट जो सन् 2005 से पहले बने है वह नोट अब मान्य नहीं है।

24. भारतीय रूपया पांचवी ऐसी मुद्रा है जिसे उसके प्रतीक-चिन्ह से पहचाना जाता है।

25. “₹” चिन्ह बनाने के लिए एक राष्ट्रीय प्रतियोगिता रखी गई थी जिसमे हिस्सा लेने के लिए 3000 से अधिक आवेदन आये थे।

26. भारत में पहले रुपया 16 आने या 64 पैसे या 192 पाई में बाँटा जाता था।

27. भारत में पैसे को पहले “नया पैसा” नाम से जाना जाता था..

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *