भारत में खनिज – सामान्य ज्ञान प्रश्नोत्तरी

भारत में खनिज – सामान्य ज्ञान प्रश्नोत्तरी

● देश का पहला लौह-इस्पात कारखाना कब और कहाँ लगा— 1875 ई., कुल्टी (प. बंगाल)
● भारत में पहला एल्युमीनियम कारखाना कहाँ लगा— 1937 ई., आसनलोन
● SAIL का पूरा नाम क्या है— स्टील अथॉरटी ऑफ इंडिया लि.
● सेल की स्थापना कब की गई— 1973 ई.
● ब्रिटेन के सहयोग से कौन-सा कारखाना निर्मित है— दुर्गापुर (प. बंगाल)
● रूस के सहयोग से कौन-सा कारखाना निर्मित है— बोकारो (झारखंड)
● राऊरकेला स्टली कारखाना किस देश के सहयोग से निर्मित है— जर्मनी
● रूस के सहयोग से दूसरा कौन-सा कारखाना निर्मित है— भिलाई (छत्तीसगढ़)
● निजी क्षेत्र में स्टील का कौन-सा कारखाना निर्मित है— TISCO (टाटा आयरन एंड स्टील कंपनी)
● टिस्को की स्थापना कब हुई थी— 1907 ई.
● लौह अयस्क सबसे अधिक किस राज्य में पाया जाता है— झारखंड
● झारखंड व ओड़िशा राज्यों से देश का कितने % लोहा प्राप्त किया जाता है— 75%
● किस राज्य से देश का कुल 51% अभ्रक निकाला जाता है— राजस्थान से
● जवार खदान किस खनिज के लिए प्रसिद्ध है— जस्ता उत्पादन के लिए
● लिग्नाइट का सबसे अधिक भंडार किस राज्य में है— तमिलनाडु में
● भिलाई इस्पात संयंत्र किस पंचवर्षीय योजना में स्थापित किया गया— द्वितीय पंचवर्षीय योजना में
● हिंदुस्तान स्टील लिमिटेड की स्थापना कब की गई— 1953 ई.
● बर्नपुर में इंडियन आयरन एंड स्टील कंपनी की स्थापना कब की गई— 1918 ई.
● कर्नाटक के भद्रावती में मैसूर (बाद में विश्वेश्वरैया) लौह एवं इस्पात कारखाने की स्थापना कब की गई— 1923 ई.
● किस सन् में कुल्टी एवं हीरापुर (1908 में स्थापित) के कारखानों को भारतीय लौह एवं इस्पात कंपनी में मिला दिया गया— 1936 ई.
● 1937 ई. में किस स्थान पर स्टली कॉरपोरेशन ऑफ बंगाल की स्थापना की गई— बर्नपुर
● स्टील कॉरपोरेशन ऑफ बंगाल को किस वर्ष भारतीय लौह एवं इस्पात कंपनी में मिला दिया गया— 1953 ई.
● 1953 ई. बर्नपुर, हीरापुर एवं कुल्टी के कारखानों को किस नाम से जाना जाता है— इस्को (IISCO)
● द्वितीय योजनाकाल में लगाए गए तीन नए कारखानें कौन-से थे— भिलाई, दुर्गापुर एवं राउरकेला
● भिलाई, दुर्गापुर एवं राउरकेला कारखानों को किस कंपनी के अंतर्गत रखा गया— हिंदुस्तान स्टील लिमिटेड
● तीसरी पंचवर्षीय योजना में कौन-से कारखाने की स्थापना का निर्णय लिया गया— बोकारो
● बोकारो कारखाने में इस्पात का उत्पादन किस वर्ष प्रारंभ हुआ— 1974 ई.
● वर्तमान समय में दुर्गापुर, राउरकेला, बोकारो, भिलाई, सलेम के कारखाने किस कंपनी के अंतर्गत आते हैं— स्टील अथॉरटी ऑफ इंडिया लि.
● दुर्गापुर, राउरकेला, बोकारो, भिलाई, सलेम के अलावा और किस जगह लोहा एवं इस्पात के कारखाने स्थापित किये गए हैं— विशाखापट्टनम एवं विजयनगर
● किन देशों के बाद कच्चे इस्पात के सबसे बड़े उत्पादकों के रूप में भारत का दुनिया में चौथा स्थान है— चीन, जापान और अमेरिका
● भारत के पास कच्चे तेल का और प्राकृतिक गैस का कितना भंडार है— 757 मिलियन मीट्रिक टन और 1241 बिलियन क्यूबिक मीटर
● पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस क्षेत्र, जिसमें पेट्रोलियम उत्पादों व गैस का परिवहन, रिफाइनिंग और मार्केटिंग शामिल है, की देश के सकल घरेलू उत्पादन यानि जीडीपी में ● कितनी हिस्सेदारी रखता है— 15% से ज्यादा
● भारत विश्व का कौन-से नंबर का सबसे बड़ा तेल उपभोक्ता देश है— चौथा
● भारत में कार्यरत तेल रिफाइनरियों में से निजी क्षेत्र की रिफाइनरियां हैं— दो
● विश्व के किन प्रमुख देशों के तेल क्षेत्रों में भारत की अधिकतर सरकारी तेल कंपनियों की हिस्सेदारी है— सूडान, मिस्त्र, लीबिया, आइवरी कोस्ट, वियतनाम, म्यांमार, रूस, इराक, कतर व ऑस्ट्रेलिया
● रूस के सखालिन-1 तेल क्षेत्र में भारत की कितने % हिस्सेदारी है— 20%
● खांडसारी उद्योग के बाद भारत का दूसरा सबसे बड़ा लघु उद्योग कौन-सा है— हथकरघा
● रोजगार क्षमता में हथकरघा उद्योग का स्थान देश में कौन-सा है— दूसरा (कृषि के बाद)
● देश में सूती वस्त्र का पहला कारखाना फोर्ट ग्लोस्टर (कोलकाता) में कब लगाया गया— 1818 ई.
● मुंबई में कावसजी डाबर द्वारा सूती वस्त्र का कारखाना कब लगाया गया— 1854 ई.
● भारत में जूट का प्रथम कारखाना 1854 ई. में प. बंगाल में किस शहर में लगाया गया— रिशरा
● भारत में ऊन की पहली मिल 1870 ई. में कहाँ स्थापित की गई— कानपुर
● भारत में कागज उद्योग की पहली मिल पश्चिम बंगाल के सीरामपुर में किस वर्ष में लगाई गई— 1812 ई.
● भारत का प्रथम रेयॉन कारखाना किस सन् में रायपुरम (केरल) में ट्रावणकोर रेयॉन लि. के नाम से स्थापित हुआ— 1950 ई.
● सोने का रेशा किस उद्योग को कहा जाता है— जूट उद्योग को
● भारत में संपूर्ण विश्व का कितने % जूट के सामानों का निर्माण करता है— 35%

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *