भारत का संविधान : भाग 16: कुछ वर्गों के संबंध में विशेष उपबंध(330-342)

Back to INDEX Page

भारत का संविधान : भाग 16: कुछ वर्गों के संबंध में विशेष उपबंध  ,Constitution of India, PART 16 SPECIAL PROVISIONS RELATING TO CERTAIN CLASSES

important for Exam 330,335,338

330. लोक सभा में अनुसूचित जातियों और अनुसूचित जनजातियों के लिए स्थानों का आरक्षण
331. लोक सभा में आंग्ल-भारतीय समुदाय का प्रतिनिधित्व, उस समुदाय के दो से अनधिक सदस्य नामनिर्देशित कर सकेगा।
332. राज्यों की विधान सभाओं में अनुसूचित जातियों और अनुसूचित जनजातियों के लिए स्थानों का आरक्षण–(1) 7***  प्रत्येक राज्य की विधान सभा में अनुसूचित जातियों के लिए और 8[असम के स्वशासी जिलों की अनुसूचित जनजातियों को छोड़कर] अन्य अनुसूचित जनजातियों के लिए स्थान आरक्षित रहेंगे।
334. स्थानों के आरक्षण और विशेष प्रतिनिधित्व का साठ वर्ष के पश्चात्‌ न रहना
335. सेवाओं और पदों के लिए अनुसूचित जातियों और अनुसूचित जनजातियों के आरक्षण |
337. आंग्ल-भारतीय समुदाय के फायदे के लिए शैक्षिक अनुदान के लिए विशेष उपबंध
338. अनुसूचित जातियों के लिए एक आयोग होगा जो राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग के नाम से ज्ञात होगा।संविधान (नवासीवाँ संशोधन) अधिनियम, 2003 की धारा 2 द्वारा (19-2-2004 से) अनुसूचित जनजातियों” शब्दों का लोप किया गया।
338(5) आयोग का यह कर्तव्य होगा कि वह, 338(क) अनुसूचित जनजातियों को उनके अधिकारों और रक्षोपायों से वंचित करने के सम्बन्ध में विनिर्दिष्ट शिकायतों की जाँच करे, सामाजिक-आर्थिक विकास का मूल्यांकन करे|
342. अनुसूचित जनजातियाँ, राष्ट्रपति,  राज्यपाल से परामर्श करने के पश्चात्‌ 5लोक अधिसूचना द्वारा,  उन जनजातियों या जनजाति समुदायोंको विर्निदिस्त कर सकेगा